रोडवेज बस सेवा शुरू करने की मांग


रिपोर्ट- विरमदेव देवासी

बालोतरा: उपखंड क्षेत्रों में रोडवेज की बसों का संचालन नहीं होने के कारण निजी वाहन संचालक मनमाना किराया वसूल रहे हैं। राजस्थान पथ परिवहन निगम एक ओर जहां अपनी रोडवेज सेवा का कायाकल्प करने में जुटी हुई है। शहरीकरण में बसों की संख्या बढ़ाने पर जोर दे रही है। वहीं दूसरी ओर उपखंड बालोतरा क्षेत्र के कई गांव आज भी रोडवेज की सुविधा से वंचित हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में कई महत्वपूर्ण सरकारी विभाग मौजूद है, लेकिन वर्षों बाद भी इन विभाग के कर्मचारियों सहित ग्रामीण भी रोडवेज सेवा से महरूम हैं। जबकि उपखंड क्षेत्र के कई गांव रोडवेज की सुविधा को तरस रहे हैं। ग्रामीणों ने बताया कि उपखंड बालोतरा क्षेत्र में बसों के संचालन के लिए परिवहन निगम को कई बार अवगत करवाया जा चुका है। फिर भी निगम ने बस संचालन करने में कोई रुचि नहीं दिखाई है।

ग्रामीण क्षेत्र किटनोद, आसोतरा, बिठुजा, सराना, जानियाना, मूंगडा, पचपदरा, कुड़ी, नेवारी इत्यादि गांवों में रोडवेज की बसों का संचालन नहीं होने के कारण निजी वाहन संचालक चांदी कूट रहे हैं। निजी वाहन संचालक यात्रियों से मनमाना किराया वसूल करते हैं। वाहनों में क्षमता से अधिक यात्रियों को बैठाते हैं। आवागमन के अन्य विकल्प नहीं होने से लोग मजबूरी में रिक्शों या बस यात्रा करते हैं और निजी वाहनों के मालिक निर्धारित रूटों की अनदेखी कर अपनी मनमर्जी से बसों का संचालन करते हैं । ऐसे में यात्रियों को घंटों वाहनों का इंतजार करना पड़ता है। जब वाहन चालकों से पूछा गया कि आप इतने रुपए ले रहे हैं तो बताया कि आपको आवागमन करना है तो करो वरना खुद के साधन से आवागमन करें। ग्रामीणों ने भारी विरोध जताते हुए कहा कि स्थानीय विधायक व सांसद हमारी मांगें पूरी करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed